Thomas Alva Edison in Hindi | जानिए दुनिया के महान वैज्ञानिक के बारे में

You are currently viewing Thomas Alva Edison in Hindi | जानिए दुनिया के महान वैज्ञानिक के बारे में

थॉमस अल्वा एडिसन हिंदी में – जन्मतिथि, करियर, शिक्षा, जैव, जीवन कहानी, उम्र, माता-पिता, पत्नी, बल्ब की कहानी के आविष्कार, पुरस्कार, और थॉमस अल्वा एडिसन के बारे में बहुत कुछ ( Thomas Alva Edison in Hindi – DOB, Career, education, bio, life story, Age, parents, wife, inventions of bulb story, awards, and more about of Thomas Alva Edison in hindi)

आज हम इस पोस्ट में आपको ऐसे महान वैज्ञानिक के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने ना कि बल्ब का आविष्कार किया बल्कि दुनिया को ऐसा तोहफा दिया जिससे लोगों की जिंदगी आसान हो गई है, जी हां हम बात कर रहे हैं दुनिया के महान वैज्ञानिकों में से एक थॉमस अल्वा एडिसन के बारे में। थॉमस एडिसन एक ऐसे वैज्ञानिक थे, जिन्होंने अपनी जिंदगी में कई परेशानियों के बावजूद कुछ ऐसे आविष्कार करके दिखाएं जिसे लोग आज भी याद करते हैं। थॉमस ऐसे वैज्ञानिकों में शामिल थे, जिन्होंने कई असफलताओं के बावजूद महत्वपूर्ण आविष्कार किए। इसलिए आज हम आपको थॉमस अल्वा एडिसन से जुड़ी सभी जानकारी आपको देंगे।

Thomas Alva Edison Kaun the ( थॉमस अल्वा एडिसन कौन थे )

थॉमस अल्वा एडिसन जिन्हें थॉमस एडिसन के नाम से भी जाना जाता है। यह एक अमेरिकी अविष्कारक वैज्ञानिक थे, जिन्होंने बल्ब का आविष्कार किया था। इनका जन्म 11 फरवरी 1847 को अमेरिका के मिलान में हुआ था। थॉमस ने बल्ब का आविष्कार साल 1879 को किया था। ऐसा करने वाले थॉमस एडिसन विश्व के पहले ऐसे वैज्ञानिक थे, जिन्होंने सफलतापूर्वक बल्ब का आविष्कार किया। थॉमस अमेरिका के ऐसे अकेले वैज्ञानिक है, जिनके नाम 1093 पेटेंट हैं। 18 अक्टूबर 1931 को न्यूजर्सी में उनका निधन हो गया।

About Thomas Alva Edison In Hindi ( थॉमस अल्वा एडिसन के बारे में )

question (प्रश्न)answer (उत्तर)
name/नामथॉमस अल्वा एडिसन
DOB/जन्म तिथि 11 फरवरी 1847 (अमेरिका,मिलान)
profession/पेशाआविष्कारक, टेलीग्राफिस्ट, व्यवसायी
parents/माता-पिता सैमुअल एडिशन/नैंसी मैथ्यूज इलियट
wife/पत्नीMary Stilwell, Mina Miller Edison
famous for/प्रसिद्धबल्ब का आविष्कार के लिए
patents/पेटेंट1093 पेटेंट (थॉमस एडिसन)
death/मौत18 अक्टूबर 1931
age (at the time of death)84 साल ( 1931)
nationality/राष्ट्रीयताअमेरिकन
Thomas Alva Edison in Hindi

थॉमस अल्वा एडिसन का जीवन परिचय

दुनिया के महान वैज्ञानिकों में से एक थॉमस अल्वा एडिसन का जन्म 11 फरवरी 1847 को संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित मिलान में हुआ था। उनके पिता का नाम सैमुअल एडिशन तथा मां का नाम नैंसी मैथ्यूज इलियट था। थॉमस एडिसन अपने माता पिता के सातवें और आखिरी संतान थे। बचपन से ही थॉमस अल्वा एडिसन का पालन पोषण उनकी मां ने किया और साथ ही उन्हें पढ़ाने लिखाने की जिम्मेदारी उनकी मां ने ही ली। एक तरह से कहा जाए तो थॉमस एडिसन की टीचर उनकी मां ही थी।

education (शिक्षा)

अगर बात करें थॉमस अल्वा एडिसन की शुरुआती पढ़ाई की, तो थॉमस एडिसन की शुरुआती पढ़ाई केवल 12 हफ्ते तक चली, क्योंकि बचपन में थॉमस को सुनने की कमी थी, जिसके चलते क्लास में उन्हें कोई भी पाठ एक बार में समझ नहीं आता था। लेकिन थॉमस एडिसन को चीजों के बारे में जानने में काफी दिलचस्पी थी, जिस वजह से वह एक जिज्ञासु बच्चे हुआ करते थे।

अक्सर वह अपनी क्लास में अपने शिक्षक से कई प्रश्न किया करते थे, लेकिन उनके प्रश्न से तंग होकर शिक्षक उन्हें एक मनबुद्धि बालक समझते थे। और स्कूल से निकाल देने के कारण आगे की पढ़ाई उनकी मां ने कराई और 10 वर्ष की आयु में थॉमस एडिसन ने बर्टन, गिबर जैसी कई बड़ी ग्रंथों का ज्ञान प्राप्त किया। कहा जाता है, कि थॉमस अल्वा एडिसन कि सफलता के पीछे उनकी मां का हाथ है। क्योंकि उन्होंने ही थॉमस को पढ़ाया लिखाया था।

थॉमस अल्वा एडिसन एक आविष्कारक कैसे बने ?

थॉमस को बचपन से ही रसायनिक प्रयोग करने में काफी दिलचस्पी थी, छोटी उम्र में वह घंटो घंटो तक रासायनिक प्रयोग किया करते थे। उनकी इस लगन को देखते हुए उनकी मां ने एक ऐसी पुस्तक दी जिसमें सारे रासायनिक प्रयोग दिए गए थे। यह पुस्तक थॉमस एडिसन को काफी पसंद आई और रासायनिक प्रयोग करने के लिए कई छोटे-मोटे काम भी किए। थॉमस एडिसन ने अपना करियर ट्रेनों में कैंडी समाचार पत्र और सब्जियां बेचकर शुरू किया। जो उन्होंने कमाया वह अपने रसायनिक प्रयोग में लगा देते थे। इससे पता चलता है, कि थॉमस को बचपन से इन्वेंशन करने की काफी रूचि थी।

एडिसन ने अपनी पहली प्रयोगशाला सिर्फ 10 साल की उम्र में ही बना ली थी, और वहां थॉमस अपने कार्य को कड़ी मेहनत और दिलचस्पी से किया करते थे। वह प्रयोगशाला में अपना कार्य इतनी दिलचस्पी से करते थे, कि वह अक्सर अपना खाना खाना भूल जाते थे।

स्कूल से निकालना

महान वैज्ञानिक थॉमस एडिसन के किस्से वाकई में लाजवाब हैं, जिसमें से एक तब का है, जब इस महान वैज्ञानिक को बचपन में सुनने की क्षमता कम थी। थॉमस प्राइमरी स्कूल में पढ़ते थे, तब थॉमस एडिशन अपने टीचर से अक्सर कई सवाल पूछा करते थे। वह बचपन से एक जिज्ञासु बच्चे थे। लेकिन थॉमस द्वारा पूछे गए सवालों से तंग आकर टीचर उन्हें मंदबुद्धि बालक समझते थे। इसलिए विद्यालय के सभी टीचर ने निर्णय लिया कि इस बच्चे को विद्यालय से निकाल देना चाहिए जिसकी वजह से थॉमस एडिसन को 12 सप्ताह तक स्कूल में पढ़ने को मिला। इसके बाद बचपन से ही शुरुआती शिक्षा थॉमस को उनकी माँ नैंसी मैथ्यूज इलियट ने दी।

ऐसे में थॉमस की माँ टीचर थी, इसलिए थॉमस एडिसन को पढ़ाने लिखाने की जिम्मेदारी उनकी मां ने ली। अब जिज्ञासु बच्चा होने के कारण थॉमस अल्वा एडिसन ने अपनी मां से कई ग्रंथों की जानकारी ली। और 10 वर्ष की आयु में आते-आते थॉमस अल्वा एडिसन नए कई ग्रंथों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बर्टन, गिबर जैसी बड़ी ग्रंथों का ज्ञान प्राप्त किया।

जानिए बल्ब का आविष्कार कब, कहाँ और उसके इतिहास के बारे में।

थॉमस अल्वा एडिसन के आविष्कार

थॉमस अल्वा एडिसन विश्व के महान वैज्ञानिकों में से एक थे, इसलिए एक अमेरिकी वैज्ञानिक होने के चलते थॉमस एडिसन ने अपना पूरा जीवन रसायनिक प्रयोग और नई खोज आविष्कारों में बिता दिया। उन्होंने अपना पहला पेटेंट इलेक्ट्रिक मशीन को करवाया। इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सल स्टॉप प्रिंटर की खोज की, जिसे थॉमस अल्वा एडिसन के आविष्कारों में से एक माना जाता है। इसके बाद उन्होंने ग्रामोफोन, फोनोग्राम, कीनेटोस्कोप आदि उपकरण के आविष्कार किये।

इसके बाद वह अपने बल्ब का आविष्कार को करने में जुट गए और थॉमस एडिसन ने अपने इस आविष्कार को सफल बनाने के लिए कड़ी मेहनत और दिन रात एक कर दिए। 1000 बार से भी ज्यादा कोशिश करने के बाद ही वह नाकाम रहे। लेकिन अपनी इसी जुनून को आगे ले जाते हुए थॉमस अल्वा एडिसन ने हार नहीं मानी और अपने हर प्रयास को संभव करते हुए आखिरकार वह सफलता प्राप्त की जिसकी दुनिया आज भी प्रशंसा करती है। उन्होंने 21 अक्टूबर 1879 को पहली बार दुनिया के सामने बल्ब का आविष्कार पेश किया, यही नहीं उन्होंने करीब 40 घंटे से अधिक समय तक बिजली से चलने वाला बल्ब को सफल साबित करके दिखाया।

अपने पहले बल्ब का आविष्कार करने के लिए थॉमस अल्वा एडिसन को करीब $40 हजार की लागत आई लेकिन साल 1879 से लेकर 1900 तक थॉमस अल्वा एडिसन ने कुछ महत्वपूर्ण और अहम आविष्कार किए जिसके वजह से वह एक वैज्ञानिक के अलावा एक अमीर व्यापारी भी बन चुके थे।

thomas alva edison invention list

  • Incandescent light bulb (गरमागरम प्रकाश बल्ब)
  • Gramophone (ग्रामोफोन)
  • Kinetoscope (काइनेटोस्कोप)
  • Movie camera (मूवी कैमरा)
  • Phonograph cylinder (फोनोग्राफ सिलेंडर)
  • Electric pen (इलेक्ट्रिक पेन)
  • Mimeograph (मिमियोग्राफ)
  • Tasimeter (टेसीमीटर)
  • Vitascope (विटास्कोप)
  • Phonomotor (फोनोमोटर)
  • Electric power distribution (विद्युत शक्ति वितरण)
  • Carbon microphone (कार्बन माइक्रोफोन)
  • Vacuum diode (वैक्यूम डायोड)
  • Quadruplex telegraph (क्वाड्रुप्लेक्स टेलीग्राफ)
  • Kinetograph (काइनेटोग्राफ)
  • rechargeable battery (रीचार्जेबल बैटरी)

थॉमस अल्वा एडिसन की मृत्यु कब हुई

1093 आविष्कार पेटेंट अपने नाम करने वाले थॉमस अल्वा एडिसन का निधन 18 अक्टूबर 1931 को संयुक्त राज्य अमेरिका के न्यूजर्सी में हुआ था। आज भी थॉमस अल्वा एडिसन के सभी आविष्कारों की प्रशंसा की जाती है, इसलिए थॉमस एडिसन विश्व के जाने-माने वैज्ञानिक थे।

Alva Edison alva quotes In Hindi

मैंने अपने जीवन में एक भी दिन काम नहीं किया. ये सब मनोरंजन था

मैंने अपने जीवन में एक भी दिन काम नहीं किया. ये सब मनोरंजन था

हमारी सबसे बड़ी कमजोरी हार मानने में निहित है। सफल होने का सबसे निश्चित तरीका हमेशा एक बार और प्रयास करना है।

आपकी वैल्यू इसमें हैं कि आप क्या हो, ना कि आपके पास क्या हैं

इसे बेहतर करने का एक तरीका है। इसे खोजें।

मैं फेल नहीं हुआ हूं। मुझे अभी 10,000 ऐसे तरीके मिले हैं जो काम नहीं करेंगे

Some FAQ ( कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न )

थॉमस अल्वा एडिसन कौन थे?

एक वैज्ञानिक जिसने बल्ब का आविष्कार किया था।

बल्ब का आविष्कार कब हुआ?

साल 1879 को।

थॉमस अल्वा एडिसन का जन्म कब हुआ?

11 फरवरी 1847

थॉमस अल्वा एडिसन का जन्म कहाँ हुआ?

संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित मिलान में।

थॉमस अल्वा एडीसन में किसका आविष्कार किया?

बल्ब का।

see also – इन्हे भी पढ़े

जानिए फुटबॉल खिलाड़ी सुनील छेत्री के बारे में।

जानिए प्रसिद्ध कहानीकार मुंशी प्रेमचंद के जीवन के बारे में।

नोट– यह संपूर्ण बायोग्राफी का क्रेडिट हम थॉमस अल्वा एडीसन को देते हैं क्योंकि ये पूरी जीवनी उन्हीं के जीवन पर आधारित है और उन्हीं के जीवन से ली गई है। उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। हमें कमेंट करके बताइयेगा कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा?

Leave a Reply