Sunil Mittal Biography in Hindi | सुनील मित्तल का जीवन परिचय

You are currently viewing Sunil Mittal Biography in Hindi | सुनील मित्तल का जीवन परिचय
Airtel Founder

सुनील मित्तल का जीवन परिचय – उम्र , निवल मूल्य, जन्म तिथि, पत्नी, माता-पिता, जीवन, ( Biography of Sunil Mittal in Hindi – age, net-worth, DOB, wife, parents, life ) ( sunil mittal airtel company in hindi )

सुनील मित्तल कौन है? ( Who is Sunil Mittal )

भारत में कई उद्योगपति देश का विकास करना चाहते है, और कर भी रहे है. चाहे वह टाटा मोटर्स के अध्यक्ष राटा टाटा हो, या रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक मिकेश अम्बानी। इनमे से एक है भारतीय उद्योगपति “सुनील मित्तल, जो की भारतीय टेलिकॉम कंपनी airtel के मालिक है। सुनील ने अपनी कड़ी मेहनत और सच्ची लगन की बदौलत इस मुकाम को हासिल किया है।

सुनील भारती मित्तल जिन्हें सुनील मित्तल के नाम से जाना जाता है, यह एक भारतीय उद्यमी और व्यापारी है, जिनका जन्म पंजाब के लुधिआना जिले में 1957 को हुआ था। यह भारत की दूसरी और विश्व की तीसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी Airtel के मालिक और चेयरमैन है। इनका नाम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेलीकॉम उद्यमियों में शुमार किया जाता है। सुनील मित्तल को 2007 में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण और 2005 में इकनोमिक टाइम्स, द्वारा “बिज़नेस लीडर ऑफ़ द ईयर” घोषित किया गया। यही कारण है की आज सुनील मित्तल के बदौलत Airtel के करीब 20 करोड़ ग्राहक जुड़े हुए है।

sunil mittal in hindi – wiki, age, biography and more..

question ( प्रश्न )answer ( उत्तर )
name/नाम सुनील भारती मित्तल
DOB/जन्म तिथि23 अक्टूबर 1957 ( लुधिआना, पंजाब )
age/उम्र64 साल (2021)
profession/पेशाभारतीय व्यापारी और airtel के मालिक
parents/माता-पितासतपाल मित्तल/ललिता मित्तल
wife/पत्नीन्याना मित्तल ( nyna mittal )
childs/बच्चेकेविन और शर्विन भारती मित्तल
net-worth 20211,480 करोड़ अमरीकी डालर
education/शिक्षा Bachelor of Arts and Science
famous forAirtel chairman
sunil mittal company website Bharti Enterprises Official
nationality/राष्ट्रीयता भारतीय

Sunil Mittal (airtel) Biography in Hindi

भारतीय उद्योगपति सुनील मित्तल ( sunil mittal ) का जन्म पंजाब के लुधिआना जिले में 23 अक्टूबर1957 को हुआ था। उनकी माँ का नाम ललिता मित्तल तथा पिता सतपाल मित्तल है जो की एक राजनेता थे और दो बार लोक सभा से और एक बार राज्य सभा से सांसद रह चुके थे। उनकी प्रारंभिक शिक्षा मसूरी के विनबर्ग एलन स्कूल और बाद में ग्वालियर के सिंधिया स्कूल से हुई। वर्ष 1976 में उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री प्राप्त की।

करियर की शुरुआत ( Career start )

शुरू की बात करे तो सुनील मित्तल एक व्यापारी बनना चाहते है, पढाई के कुछ खास दिलचस्पी न होने के कारण यह अपना खुद का एक बिज़नेस खोलना चाहते थे , शायद यही वजह है की आज सुनील मित्तल अपने काम में सफल हुए है।

करीब 18 साल की उम्र में सुनील मित्तल ने बिज़नेस इंडस्ट्री में कदम रखा और उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक छोटा-सा साइकिल व्यवसाय शुरू किया, जिसमे वह हीरो साइकिल के क्रैन्कशाफ्ट आदि पार्ट्स बनाने शुरू किये। यह बिज़नेस अच्छा तो था लेकिन सुनील मित्तल को लगा की इस व्यवसाय में ज्यादा कुछ हो नहीं सकता इसलिए अपने भाईयों के साथ मिलकर ‘भारती ओवरसीज ट्रेडिंग कंपनी” की स्थापना की।

जानिए गोपाल विट्टल के बारे में जो Airtel कंपनी के सीईओ है।

Airtel Success story of sunil mittal

सुनील मित्तल यही नहीं रुके क्योकि वर्ष 1981 में ‘इम्पोर्ट लाइसेंस” खरीदकर जापान से पोर्टेबल जेनरेटरों के बिक्री का कार्य शुरू किया। इस काम में सुनील को भारी मुनाफा हुआ और धीरे धीरे इस काम में जमने लगे। लेकिन इसी बीच पहले से ही दो भारतीय कंपनियों को देश में ही जेनरेटर बनाने का लाइसेंस होने से सुनील मित्तल का यह व्यवसाय जल्द ही बंद हो गया।

उनको पता था की, किसी भी बिज़नेस को शुरू करने से पहले कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है, इसलिए सुनील मित्तल भी हार नहीं मानी और वर्ष 1984 में ताइवान कपंनी kingtel से पुश बटन यानि तार वाले फ़ोन का काम शुरू किया। और इसके बाद वर्ष 1992 में उन्होंने मोबाइल नेटवर्क लाइसेंस के लिए दावेदारी पेश की और कुछ कंपनी में से सुनील मित्तल की कंपनी BHARTI CELLULAR LIMITED यानि BCL को भी लाइसेंस मिल गया।

यहाँ से सुनील मित्तल सफलता की राह पर जाते हुए नज़र आ रहे थे क्योकि मित्तल ने airtel ब्रांड के साथ करीब 20 लाख लोगो का आकड़ा पार करते हुए कई रहिस उद्योगपति में शमिल हो रहे थे।

पुरस्कार ( awards )

भारत के मशहूर उद्योगपति सुनील मित्तल को भारतीय टेलिकॉम कंपनी Airtel में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, जिसकी वजह सुनील मित्तल को सरकार द्वारा वर्ष 2007 में भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान Padma Bhushan से सम्मानित किया गया।

see also – इन्हे भी पढ़े

नोट – हम इस पूरी बायोग्राफी का श्रेय सुनील मित्तल को देते हैं। क्योकि यह पूरी जीवनी सुनील मित्तल के जीवन पर आधारित है, हमने बस उनके जीवन पर प्रकाश डालने का एक छोटा सा प्रयास किया है। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइयेगा और उम्मीद करते है आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे.

This Post Has 2 Comments

    1. mr.rathor

      thanks for appreciating our blog send us an email

Leave a Reply