Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi | रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय

You are currently viewing Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi | रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय
Ravi Kumar Dahiya

रवि कुमार दहिया कौन है ? ( Who is Ravi Kumar Dahiya )

रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय – तो दोस्तों आज आप जानेंगे भारत के ओलिंपिक में सिल्वर मेडल से नवाजे गए कुश्ती पहलवान रवि कुमार दहिया की जीवनी, करियर और उनके टोक्यो ओलिंपिक के बारे में।

रवि कुमार दहिया जिन्हें रवि कुमार के नाम से भी जाना जाता है। यह एक भारतीय कुश्ती खिलाड़ी है, जिनका जन्म 12 दिसंबर 1998 को हरियाणा के नाहरी गांव में हुआ था। 57 वर्ग किलो की कैटेगरी में लड़ने वाले भारत के रवि कुमार एक फ्रीस्टाइल पहलवान है, जिन्होंने 2019 में हुए वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में ब्रोंज़ मेडल अपने नाम किया था। इन्होने 2021 के टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए सिल्वर मैडल अपने नाम किया है।

name/नामरवि कुमार दहिया
DOB/जन्म तिथि12 दिसंबर 1998 (हरियाणा)
profession/पेशाफ्रीस्टाइल पहलवान
parents/माता-पिताराकेश दहिया/माँ – ज्ञात नहीं
event/इवेंट57 किलोग्राम
age/उम्र23 years (2020)
olympic medal silver medal (tokyo 2021)

Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi

रवि कुमार दहिया का जन्म 12 दिसंबर 1998 को हरियाणा के नाहरी गांव में हुआ था। शुरू से ही कुश्ती खेलने का शौक था, जिस कारण उनके पिता राकेश दहिया अपने बेटे का सपना सफल बनाने के लिए दूसरे के खेतों में काम किया करते थे। महज़ 10 साल की उम्र में रवि कुमार दहिया ने पहलवानी करना शुरू कर दिया था.

कुश्ती सीखने के लिए उत्तरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम के सतपाल सिंह से ट्रेनिंग लेना शुरू किया। यह भी भारत के जाने माने हरियाणा के कुस्ती पहलवान सुशील कुमार, फोगाट फैमिली, बजरंग पुनिया जैसे बड़े दिग्गज कुश्ती पहलवानों को देखकर बड़े हुए हैं, इनको देखकर रवि कुमार दहिया ने पहलवान बनने का ख्वाब देखा, जो कि आज अपने सपनों को पूरा करते जा रहे है।

टोक्यो ओलंपिक 2020 ( Tokyo Olympic 2020 )

टोक्यो ओलंपिक में भारत प्रतिनिधित्व कर रहे रवि कुमार दहिया ने अपने क्वार्टरफाइनल मैच में बुल्गेरिया के georgi vangelov को 14 – 4 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई, इसके बाद उन्होंने अपने से सेमीफाइनल मैच में कजाकिस्तान के Nurislam Sanayev को हराकर अपनी फाइनल मैच की टिकिट पक्की करवाई।

बाद में गोल्ड जीतने के इरादे से कुस्ती के मैट पर उतरे रवि कुमार दहिया ने अपने फाइनल मैच के 57 वर्ग किलो कैटेगरी में ROC यानी Rassian olympic Commitee के दिग्गज पहलवान Zaur Ugven से निराशा हाथ मिली लेकिन रवि कुमार गोल्ड तो नहीं मिला लेकिन भारत के लोगो का प्यार उन्हें एक नई बुलंदियों पर ले गया, टोक्यो ओलिंपिक में रवि कुमार को सम्मान से सिल्वर मेडल ने नवाजा गया, इससे पहले भारतीय दिग्गज कुस्ती पहलवान सुशील कुमार, साक्षी मालिक तथा और भी कुश्ती खिलाड़ियों ने भारत के लिए सिल्वर तथा ब्रोंज़ मेडल अपने नाम किया था।

ravi kumar wrestler achievement – उपलब्धियां

  • 2019 में हुए वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप के 57 वर्ग किलो की कैटेगरी में रवि कुमार दहिया ने ब्रोंज़ मेडल अपने नाम किया था।
  • 2020 के नई दिल्ली में आयोजित किए गए एशियाई रेसलिंग चैंपियनशिप के 57 वर्ग किलो की कैटेगरी में रवि कुमार दहिया गोल्ड मेडल अपने नाम किया।
  • 2018 के बुखारेस्ट में हुए U23 रेसलिंग चैंपियनशिप में रवि कुमार ने सिल्वर मेडल हासिल किया।
  • 2020 के अमाल्टी में आयोजित किए गए एशियाई रेसलिंग चैंपियनशिप के 57 वर्ग किलो की कैटेगरी में रवि कुमार दहिया गोल्ड मेडल जीता।

रोचक तथ्य – ( ravi kumar interesting facts )

  • कुस्ती में सुशील कुमार के बाद रवि दहिया ओलंपिक फाइनल में प्रवेश करने वाले दूसरे भारतीय पहलवान है.
  • रवि के पिता अपने बेटे की डेली डाइट को पूरा करने के लिए, फल और दूध, दही, घी देने के लिए उनके ग्राम नहरी से उत्तरी दिल्ली तक रोजाना जाते थे.
  • ओलंपिक में मेडल जीतने वाले दूसरे भारतीय कुश्ती पहलवान.
  • टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत के लिए कुस्ती में पहला मेडल लाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी।

See Also – इन्हे भी पढ़े

Note – मैं आशा करता हु की आप Ravi Kumar Dahiya Biography in hindi जान गए होंगे, और अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो Comment बॉक्स में जरूर बताये और अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटिड और जानकारी है तो प्लीज हमारे साथ साझा कीजिये।

Leave a Reply