Mahatma Gandhi History in Hindi | महात्मा गांधी का इतिहास हिंदी में

You are currently viewing Mahatma Gandhi History in Hindi | महात्मा गांधी का इतिहास हिंदी में
indian national father

महात्मा गांधी का जीवन परिचय – बायोडाटा, इतिहास, आयु, मृत्यु, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान, विवाह, पत्नी, माता-पिता, पुरस्कार और उपलब्धियां, और बहुत कुछ ( Mahatma Gandhi History in Hindi – Biodata, history, age, death, Contribution to Indian Freedom Movement, marriage, wife, parents, awards, and achievements, and more )

gandhiji ke bare mein

महात्मा गांधी जिनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है, इन्हें लोग बाबू के नाम से भी जानते हैं। यह भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख राजनीतिक नेता थे, जिन्होंने भारत की आजादी के लिए कई आंदोलन के किये और लोगों को प्रेरित किया। इनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर में हुआ था। भारत के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले महात्मा गांधी का जन्मदिवस गांधी जयंती तथा अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इन्होंने लोगों को अहिंसा के रास्ते पर चलना सिखाया और भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। इन्होने असहयोग आंदोलन, चंपारण आंदोलन, नमक सत्याग्रह जैसे आंदोलन का नेतृत्व किया।

अगर हम अपने भारत की आजादी की बात करें तो कई लोगों ने अपना महत्वपूर्ण योगदान देकर आज भारत को स्वतंत्र क्या है। कई सेनानियों ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपने कुछ महत्वपूर्ण आंदोलन किए, जिसके बदौलत आज हम आजादी का माहौल व्यतीत कर रहे हैं। इसी बीच एक महत्वपूर्ण स्वतंत्रता सेनानी का नाम जरूर आता है, जिनका नाम है, महात्मा गांधी। महात्मा का अर्थ है, महान आत्मा। गांधी जी को महात्मा का नाम सबसे पहले राज वैद्य जीवराम कालिदास ने संबोधित किया था।

mahatma gandhi in hindi

question (प्रश्न)answer (उत्तर)
name/नाममहात्मा गांधी
DOB/जन्म तिथि2 अक्टूबर 186 पोरबन्दर
profession/पेशाराजनीतिज्ञ, बैरिस्टर,पत्रकार, दार्शनिक, ,क्रांतिकारी, लेखक
parents/माता-पिताकरमचंद गांधी/पुतलीबाई
wife/पत्नीकस्तूरबा गांधी
famous for भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के एक प्रमुख नेता थे।
Slogan /नाराकरो या मरो, भारत छोड़ो तथा और भी
death/मृत्यु30 जनवरी 1948
age ( at the time of death )78 वर्ष (1948)
nationality/राष्ट्रीयताभारतीय
Mahatma Gandhi History in Hindi

about mahatma Gandhi in Hindi

बापू के नाम से जाने जाते महात्मा गांधी का जन्म गुजरात के एक तटीय क्षेत्र पोरबंदर में 2 अक्टूबर 1869 को गांधी परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम करमचंद गांधी था, जो ब्रिटिश राज के दौरान काठियावाड़ की एक छोटी सी रियासत के प्रधानमंत्री तथा सनातन धर्म की पंसारी जाति से संबंध रखते थे। उनकी मां का नाम पुतलीबाई था, जोकि एक धार्मिक महिला और अपने पति यानी करमचंद गांधी की चौथी पत्नी थी।

mahatma Gandhi biography in hindi

महात्मा गाँधी के माता पिता के नेतृत्व में महात्मा गाँधी की शादी एक बाल विवाह के रूप में एक 13 वर्ष की उम्र में 14 वर्षीय कस्तूर बाई मकनजी से करा दी गई। वर्तमान में महात्मा गांधी की पत्नी कस्तूर बाई मकनजी के बदले कस्तूरबा गांधी के रूप में जाना जाता है। जब महात्मा गांधी 15 वर्ष के हुए तब उनकी पहली संतान का जन्म हुआ लेकिन उनकी पहली संतान की मृत्यु हो गई। और उसी साल 1885 में महात्मा गांधी के पिता करमचंद गांधी का भी निधन हो गया। लेकिन कुछ सालों बाद यानी साल 1888 में गांधीजी की एक संतान ने जन्म लिया जिसका नाम हरिलाल गांधी था। साल 1888 से लेकर साल 1900 तक गांधीजी के चार संतान हुई, जिनका नाम हरीलाल गांधी, मणिलाल गांधी, रामदास गांधी और देवदास गांधी था।

शिक्षा

भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन मैं अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई पोरबंदर के मिडिल स्कूल और राजकोट के हाई स्कूल से की । इसके बाद उन्होंने भावनगर के शामलदास आर्ट्स कॉलेज से अपनी पढ़ाई की। गांधी जी का परिवार चाहता था कि वह एक बैरिस्टर बने इसलिए महात्मा गांधी ने 4 सितंबर 1888 में लंदन के यूनिवर्सिटी कॉलेज में अपनी बैरिस्टर और कानून की पढ़ाई के लिए इंग्लैंड चले गए।

mahatma gandhi story in hindi

असल मायने में महात्मा गाँधी का जीवन तब शुरू हुआ जब उन्हें किसी कानूनी विवाद में दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना पड़ा। एक भारतीय होने के चलते वहा उन्हें कई अपमानजनक और भेदभाव का सामना करना पड़ा। गांधीजी ने अपनी इस यात्रा में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। अफ्रीका के होटलो पर गणाधी जी के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया था। इस घटना ने महात्मा गांधी पर काफी गहरा प्रभाव डाला और इस समस्या को खत्म करने के लिए महात्मा गांधी ने दूर करने की ठान ली। दक्षिण अफ्रीका में भारतीय लोगों को अधिकार देने के लिए 22 मई 1894 को महात्मा गांधी ने नाटाल इंडियन कांग्रेस की स्थापना की और धीरे-धीरे महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका में भारतीय समुदाय के प्रमुख नेता बन गए। और साथ ही महात्मा गांधी 1915 में दक्षिण अफ्रीका से भारत वापस लौट आए।

जानिए योगी आदित्यनाथ के बारे में, जो वर्तमान में यूपी के मुख्यमंत्री है।

gandhiji in hindi

भारत वापस लौटने के बाद महात्मा गांधी ने कई आंदोलन चलाए। 1917 में उन्होंने चंपारण सत्याग्रह आंदोलन का नेतृत्व किया उन्होंने यह आंदोलन किसानों पर हो रहे अत्याचार के लिए चलाया था, क्योंकि भारत के बिहार राज्य में ब्रिटिश जमींदार किसानों को फसल उगाने नहीं देते थे और साथ ही सस्ते दामों पर किसानों से खेती करवा कर किसानों का हरण किया करते थे, जिसके चलते महात्मा गांधी ने ब्रिटिश जमींदारों के खिलाफ यह आंदोलन किया था। इसके बाद उन्होंने खेड़ा सत्याग्रह आंदोलन (1918) अहमदाबाद मिल मजदूर आंदोलन (1918) और खिलाफत (1919) जैसे कुछ महत्वपूर्ण आंदोलन किए।

साथ ही महात्मा गांधी ने साल 1920 में असहयोग आंदोलन किया। यह आंदोलन इसलिए चलाया गया था क्योंकि ब्रिटिश सरकार भारत में अपनी सत्ता स्थापित कर चुकी थी और महात्मा गांधी का मानना था कि यह सत्ता अंग्रेजों ने भारतीय लोगों के द्वारा स्थापित की हैं, और अगर हर भारतीय लोग अंग्रेजों का असहयोग किया जाए तो भारत में स्थापित अंग्रेजों की यह सत्ता खत्म हो जाएगी और अंग्रेज भारत जैसे देश को छोड़कर चले जाएंगे। यहां से महात्मा गांधी भारत के एक लोकप्रिय नेता बन चुके थे और पूरा भारत महात्मा गांधी का कहना माने लगा था। क्योंकि किसानों और अन्य भारतीय लोग जिन पर अंग्रेजों की हुकूमत चलती थी, उसे महात्मा गांधी और अन्य स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने आंदोलन और विरोध करते हुए अंग्रेजों को जड़ से निकाल भारत को पूर्ण रूप से स्वतंत्र कराया था।

mahatma gandhi death in hindi ( महात्मा गांधी की मृत्यु कब और कैसे हुई )

भारत की आजादी के ठीक 1 साल बाद यानी 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे नामक एक व्यक्ति ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी। दरअसल यह घटना तब हुई जब महात्मा गांधी शाम को संध्याकालीन प्रार्थना के लिए जा रहे थे, तभी नाथूराम गोडसे ने उनके पैर छूने का नाटक करते हुए गांधी जी पर पिस्तौल से गोली चला दी। इस घटना के दौरान नाथूराम गोडसे के साथ-साथ उनके आठ साथी समेत आरोपी घोषित किये गए। वर्तमान में महात्मा गांधी की समाधि दिल्ली के राजघाट में स्थित है।

mahatma gandhi slogan in hindi

  • करो या मरो।
  • भारत छोड़ो।
  • जहां प्रेम है वहां जीवन है।
  • भगवान का कोई धर्म नहीं है।
  • जहां पवित्रता है, वहीं निर्भयता है।
  • किसी की मेहरबानी मांगना, अपनी आजादी बेचना है।
  • कानों का दुरुपयोग मन को दूषित और अशांत करता है।
  • दिल की कोई भाषा नहीं होती, दिल-दिल से बात करता है।
  • मैं मरने के लिए तैयार हूं, पर ऐसी कोई वज़ह नहीं है जिसके लिए मैं मारने को तैयार हूं।

महात्मा गांधी के प्रमुख आंदोलन जिसके बदौलत भारत को मिली आजादी

  • 1917 – चम्पारण सत्याग्रह
  • 1918 – खेड़ा सत्याग्रह
  • 1918 – अहमदाबाद मिल मजदूर आंदोलन
  • 1919 – खिलाफत आन्दोलन
  • 1920 – असहयोग आंदोलन
  • 1930 – सविनय अवज्ञा आंदोलन
  • 1942 – भारत छोड़ो आंदोलन

mahatma gandhi quotes in hindi

किसी चीज में यकीन करना और उसे ना जीना बेईमानी है।

महात्मा गांधी

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है।

महात्मा गांधी

सत्य कभी ऐसे कारण को क्षति नहीं पहुंचाता जो उचित हो।

महात्मा गांधी

ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो। ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो।

महात्मा गांधी

विश्वास करना एक गुण है, अविश्वास दुर्बलता कि जननी है।

महात्मा गांधी

शांति का कोई रास्ता नहीं है, केवल शांति है।

महात्मा गांधी

सत्य एक है, मार्ग कई।

महात्मा गांधी

some FAQ ( कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न )

महात्मा गांधी ने कितने आंदोलन किए हैं?

भारत के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले महात्मा गांधी ने कई आंदोलन किए, जैसे सत्याग्रह आंदोलन, नमक आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन, दलित आंदोलन आदि बहुत से आंदोलन सम्मलित है।

महात्मा गांधी किस नाम से मशहूर है?

बापू।

महात्मा गांधी का जन्म कब हुआ था?

2 अक्टूबर 186 पोरबन्दर में।

गांधी जी द्वारा कौन सी पुस्तक लिखी गई थी?

महात्मा गांधी ने 1909 में हिन्द स्वराज पुस्तक लिखी थी

महात्मा गांधी के कितने बच्चे थे?

चार- हरीलाल गांधी, मणिलाल गांधी, रामदास गांधी और देवदास गांधी

महात्मा गांधी की मृत्यु कब हुई?

30 जनवरी 1948 को

महात्मा गांधी की मृत्यु किसने की?

नाथूराम गोडसे ने।

see also – इन्हे भी पढ़े

जानिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय।

नोट– यह संपूर्ण बायोग्राफी का क्रेडिट हम भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को देते हैं, क्योंकि ये पूरी जीवनी उन्हीं के जीवन पर आधारित है और उन्हीं के जीवन से ली गई है। उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। हमें कमेंट करके बताइयेगा कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा?

This Post Has One Comment

  1. free hindi knowledge

    best knowledge

Leave a Reply