Kuldeep Yadav Biography In Hindi | कुलदीप यादव जीवनी.

You are currently viewing Kuldeep Yadav Biography In Hindi | कुलदीप यादव जीवनी.
Kuldeep Yadav

kuldeep yadav the indian cricket player

Kuldeep Yadav Biography In Hindi

आज आप जानेंगे भारतीय स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव के बारे में। जो कि एक चाइनामैन बॉलर है, कुलदीप यादव एक ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने अपने प्रारंभिक जीवन में भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होने के लिए कई परिस्थितियों का सामना किया, लेकिन आज कुलदीप यादव के भारतीय क्रिकेट टीम में आने से भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाज और भी मजबूत हो गई है, जिसके चलते भारतीय क्रिकेट टीम दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में गिनी जाती है। आज हम बात करेंगे भारतीय चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव की जीवनी तथा उनके क्रिकेट करियर के बारे में।

कुलदीप यादव एक भारतीय क्रिकेटर के तौर पर चाइनामैन बॉलर है, जिनका जन्म 14 दिसंबर 1994 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुआ। कुलदीप यादव अपनी घरेलू टीम उत्तर प्रदेश तथा अपनी आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलते हैं, साथ ही कुलदीप यादव ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट्रिक लेने में भी कामयाब हुए हैं।

Name/नामकुलदीप यादव
DOB/ जन्मतिथिजन्म 14 दिसंबर 1994
Birth Place/ जन्मस्थानकानपुर (उत्तर प्रदेश)
Profession/ व्यवसायभारतीय क्रिकेटर
Parents/ माता-पिताउषा/राम सिंह यादव
school/विद्यालयकेडीएमए इंटरनेशनल एकेडमी, कानपुर
Net-Worth/ कुल मूल्य$4 मिलियन
IPL Team/ आईपीएल टीमकोलकाता नाइट राइडर्स
Age/ उम्र26 साल
about kuldeep yadav

कुलदीप यादव का भारतीय टीम में आना इतना आसान नहीं था, शुरू से एक फास्ट बॉलर बनने की इच्छा इनके लिए निराशाजनक थी, लेकिन अपने कोच की सलाह इनके लिए वरदान से कम नहीं थी क्योंकि कुलदीप यादव की गेंदबाजी में कुछ ऐसी खास बात थी, जिससे लोग इनकी बोलिंग से प्रभावित होते थे। दरशल कुलदीप यादव के कलाई में एक अलग गेंदबाजी कराने का अंदाज था जो कि आमतौर पर हम उसे चाइनामैन बॉलिंग के रूप में जानते हैं।

Kuldeep Yadav Biography In Hindi

भारत के चाइनामैन बॉलर कहे जाने वाले कुलदीप का जन्म 14 दिसंबर 1994 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुआ। इनके पिता का नाम राम सिंह यादव है, जोकि ईटों की भट्टी का काम करते थे। वही उनकी मां उषा यादव जो कि एक हाउसवाइफ हैं। इसके अलावा कुलदीप यादव के परिवार में एक बड़ी बहन भी है, जिनका नाम मधु यादव है।

कुलदीप यादव एक बड़े क्रिकेटर बनना चाहते थे, इनके पिता भी क्रिकेट के शौकीन थे, जिसके कारण उनके बेटे कुलदीप यादव को भी क्रिकेट में दिलचस्पी आने लगी। कुलदीप यादव को क्रिकेट में इतनी दिलचस्पी थी, कि उनका क्रिकेट के प्रति लगाव देखकर उनके परिवार वालों ने उनका कानपुर के क्रिकेट एकेडमी में ज्वाइन करा दिया।

चाइनामैन बॉलर बनने तक का सफर-

कुलदीप यादव एक फास्ट बॉलर बनना चाहते थे, लेकिन कद छोटा होने की वजह से उनके कोच कपिल पांडे ने एक बेहतरीन स्पिन गेंदबाज बनने की सलाह दी। जिस कारण कुलदीप यादव ने अपना पूरा ध्यान अपनी स्पिन गेंदबाजी में लगा दिया।

अपनी गेंदबाजी की बारीकियों को समझकर और कड़ी मेहनत करने के बाद कुलदीप यादव को 2012 के आईपीएल टीम MI यानि मुंबई इंडियंस में शामिल कर लिया गया। लेकिन 2012 के आईपीएल में उन्हें एक भी मैच में मौका नहीं मिला जिस कारण वह अपनी प्रतिभा को दूसरों को नहीं दिखा सके, लेकिन कुलदीप यादव का शानदार प्रदर्शन तब देखने को मिला जब वह 2014 के अंडर-19 वर्ल्ड कप के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी बने।

अपने इसी शानदार प्रदर्शन के चलते कुलदीप यादव को दिलीप ट्रॉफी में भी खिलाया गया, जहां उन्होंने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। उसके बाद कुलदीप यादव एक बड़े स्तर पर क्रिकेट खेलने का मौका मिला।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत

टेस्ट क्रिकेट डेब्यू25 मार्च 2017 (ऑस्ट्रेलिया)
वनडे क्रिकेट डेब्यू23 जून 2017 (वेस्टइंडीज)
टी20 क्रिकेट डेब्यू9 जुलाई 2017 (वेस्टइंडीज)
Kuldeep Yadav Biography In Hindi

दिलीप ट्रॉफी और अंडर-19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन के कारण कुलदीप यादव को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का मौका मिला, जहाँ उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर की शुरुआत 25 मार्च 2017 को ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट के खिलाफ की और शानदार प्रदर्शन करते हुए 4 विकेट अपने नाम किए।

अपने इसी शानदार प्रदर्शन के चलते कुलदीप यादव ने उसी साल 23 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने एकदिवसीय वनडे क्रिकेट की शुरुआत की। वही दूसरी तरफ कुलदीप यादव भारत में काफी लोकप्रिय हो रहे थे। भारतीय क्रिकेट टीम में साथ देने के लिए और अहम खिलाड़ी बनने के लिए कुलदीप यादव अपने T20 करियर की शुरुआत 9 जुलाई 2017 को वेस्टइंडीज क्रिकेट के खिलाफ की। इसके बाद कुलदीप यादव का नाम अब हर कोई क्रिकेट फैंस जानने लगा, और कुलदीप यादव के प्रदर्शन की प्रशंसा भारत में ही नहीं बल्कि देश विदेश में भी होने लगी है।

SEE ALSO – इन्हे भी पढ़े

Note – We Attribute This Entire Biography To kuldeep yaddav. Since This Entire Biography Is Based On The Life Of kuldeep yadav, We Have Just Made A Small Effort To Throw Light On His Life.

Leave a Reply