Girdhar Singh Randa Kaun Hai? Girdhar Singh Randa In Hindi

Girdhar Singh Randa Kaun Hai?

Girdhar Singh Randa Kaun Hai? जब परिवार में चार सदस्यों ने सुसाइड करे और कई सारी मुसीबतों का पहाड़ को पार करके आज यह शक्स सरकारी ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया गया है।

जी हां हम बात कर रहे है Girdhar Singh Randa उन्होंने अखबार से लेकर ढाबे पर लोगों के लिए खाना बनाने तक तथा अपनी इन परिस्थिति के बीच पढ़ाई नहीं छोड़ी और अपनी मेहनत बल पर यह उपलब्धि हासिल की।

Girdhar Singh Randa Kaun Hai? गिरधर सिंह रांदा….

Girdhar Singh Randa Kaun Hai? बतादे की गिरधर सिंह रांदा एक सरकारी अफसर के रूप में कार्यरत परिवार में यही इकलौते थे जिसने अपने जीवन में कई संघर्ष कर अपने परिवार का पेट भरा।

खेसारी लाल बायोग्राफी इन हिंदी।

Biography In Hindi/ जीवनी 

राजस्थान के बाड़मेर जिले के एक छोटे से गांव के रहने वाले Girdhar Singh Randa का जन्म हुआ। पूरा परिवार एक टूटे फूटे झोपड़ पट्टी रहता था।

आर्थिक हालात खराब थी जिससे एक वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती थी। लेकिन शुरू से एक सरकारी अधिकारी बनने शौक था लेकिन एक साथ मुसीबतों का पहाड़ टूटते गए।

इनके परिवार में दादी, और दो चाचा ने सुसाइड कर लिया जिससे पूरे परिवार में मातम छा गया जिससे घर की जिम्मेदारी इनके कंधो पर आ गई ।

Girdhar जी ने घर की आर्थिक मदद करने के लिए कहीं दुकानों पर या मजदूरी से लेकर अखबार की फैक्ट्री में काम भी किया इन सब मुसीबतों बावजूद अपना सरकारी अफसर बनने का सपना नहीं टूटने नहीं दिया।

जब आर्थिक हालत सही लेकिन उनके भाई ने भी सुसाइड कर लिया अब परिवार में चार एस सुसाइड होने से पूरा परिवार दुखी था और Girdhar जी पूरे टूट चुके थे लेकिन अपने परिवार का दृश्य देख फिर खड़े हुए।

अब कि बार Girdhar Singh Randa ने सरकारी अधिकारी बनने के लिए कई सारे परीक्षा दिए लेकिन सफलता ना मिली सभी परीक्षा में लगातार फैल होने से निराश थे लेकिन कहते है ना किसी चीज को शिद्दत से चाहो तो सारी कायनात उसे मिलाने में लग जाती है कुछ ऐसा ही हुआ Girdhar जी के साथ जब ग्रामीण विकास की तौर पर परीक्षा दी इस बार इनकी मेहनत और लगन ने सफलता हासिल की ओर सरकारी ऑफिसर के पद पर नियुक्त है।

सरकारी अफसर का सपना अब पूरा हो चुका था। परिवार वाले खुशी से फूले नहीं समा रहे थे क्योंकि उनका बेटा गरीबी से निकलकर एक सरकारी उच्च पद पर नियुक्त जो हो चुका था।गरीबी से निकलकर सरकारी अफसर बनने तक की कहानी।

Leave a Reply