Feroze Gandhi Biography in Hindi | फिरोज गांधी का जीवन परिचय

You are currently viewing Feroze Gandhi Biography in Hindi | फिरोज गांधी का जीवन परिचय

Feroze Gandhi Biography in Hindi – age, career, family, wife, political party, post, and more (फिरोज गांधी जीवनी हिंदी में – उम्र, करियर, परिवार, पत्नी, राजनीतिक दल, पद, और बहुत कुछ)

फिरोज गांधी कौन है? (Who is Feroze Gandhi)

फिरोज़ गांधी भारत के एक प्रसिद्ध राजनेता तथा पत्रकार थे। जो भारत की प्रधानमंत्री रही इंदिरा गांधी के पति थे। इनका जन्म 12 सितम्बर 1912 को मुंबई में हुआ था। फिरोज़ गांधी ने साल 1946 में लखनऊ के दैनिक पत्र “नेशनल हेराल्ड” के प्रबंध निदेशक का पद संभाला। साथ ही वह प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और लोकसभा के प्रभावशाली सदस्य थे. जिन्हे सन 1928 में साइमन कमीशन के बहिष्कार में भाग लिया। 8 सितम्बर, 1960 को हृदयाघात से फिरोज गांधी का निधन हो गया था।

फिरोज गांधी का जीवन परिचय ( Feroze Gandhi Biography In Hindi )

name/ नामफिरोज़ गांधी
famous for/ प्रसिद्धएक राजनेता और इंदिरा गांधी के पति के रूप में
DOB/जन्म तिथि12 सितम्बर 1912
birthplace/जन्मस्थानबम्बई, बम्बई प्रांत, ब्रिटिश भारत
(अब मुम्बई, महाराष्ट्र, भारत)
work/कार्य राजनेता, पत्रकार
parents/अभिभावकजहांगीर / रतिमाई
wife/पत्नीइंदिरा गांधी
education/शिक्षाविद्या मंदिर हाई स्कूल
इविंग क्रिश्चियन कॉलेज (स्नातक)
death/मृत्यु 8 सितम्बर, 1960
deathplace/मृत्यु स्थाननई दिल्ली, दिल्ली, भारत
age (मृत्यु के समय)47 साल (1960)
Mausoleum/समाधि इलाहाबाद
religion/धर्मपारसी धर्म
nationality/राष्ट्रीयताभारतीय
Feroze Gandhi Biography in Hindi

फिरोज़ गांधी का बचपन और शिक्षा | Feroze Gandhi’s childhood and education

फिरोज़ गांधी का जन्म मुम्बई में एक पारसी परिवार में 12 सितम्बर 1912 को हुआ था। उनके पिता का नाम जहांगीर था, किलिक निक्सन में एक इंजीनियर थे, और बाद में वारंट इंजीनियर के रूप में प्रवर्तित किया गया था। वही माता का नाम रतिमाई था. इसके अलावा फिरोज दो भाई और बहन भी थी, इनमे दो भाई दोराब और फरीदुन जहांगीर और दो बहनें, तेहमिना करशश और आलू दस्तुर थी। अपने भाई बहन में फिरोज़ सबसे छोटे थे।

1920 के दशक की शुरुआत में अपने पिता की मृत्यु के बाद, फिरोज और उनकी माँ रतिमाई इलाहाबाद आ गए , इलाहबाद में ही फ़िरोज़ ने विद्या मंदिर हाई स्कूल में प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की, और फिर इविंग क्रिश्चियन कॉलेज से स्नातक की उपाधि हासिल की।

जानिए जवाहरलाल नेहरू के बारे में , जो भारत देश के पहले प्रधानमंत्री बने।

फिरोज गांधी का राजनीतिक करियर | Feroze Gandhi’s political career

फिरोज गाँधी स्वतंत्रता सेनानी और लोकसभा के प्रभावशाली सदस्य थे। सन 1942 में ‘भारत छोड़ो आन्दोलन’ में फ़ीरोज़ गाँधी कुछ समय तक भूमिगत रहने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी जाना पड़ा। जेल से रिहा होने के बाद 1946 में उन्होंने लखनऊ के दैनिक पत्र ‘नेशनल हेराल्ड’ के प्रबन्ध निर्देशक का पद सम्भाला। 17 अप्रैल 1952 को भारतीय संसद के सदस्य चुने गए, यह कार्यलय उन्होंने 4 अप्रैल 1957 तक रहा।

सन 1957 में वह लोकसभा के सदस्य निर्वाचित हुए। उन्होंने भ्रष्टाचार के कई मामले उठाए, 1958 में संसद भवन में उन्होंने हरिदास मुंधरा के सरकारी नियंत्रण की LIC बीमा कंपनी के स्कैंडल में शामिल होने का मुद्दा उठाया था।इससे नेहरू की सरकार में गिरावट आई , जिसके बाद वित्त मंत्री टी. टी. कृष्णमाचारी को अपने पद से हटना पड़ा। वे नेहरू परिवार से अपने सम्बन्धों की परवाह किए बिना प्रधानमंत्री की कई नीतियों, विशेषत: औद्योगिक नीतियों की कटु आलोचना करते थे, जिसकी वजह से फिरोज मिडिया केजरिये चर्चा में रहे और बड़े लोकप्रिय सांसद बन गए।

फिरोज गांधी का इतिहास | Feroze Khan Gandhi History

इंदिरा गाँधी अपने पिता जवाहरलाल नेहरू की मर्जी के खिलाफ फिरोज गांधी से शादी की थी. कहा जाता है की, दोनों की मुलाकात 1930 में. हुई। फिरोज और इंदिरा की शादी साल 1942 में हुई. लेकिन जवाहर लाल नेहरू इस शादी के खिलाफ थे. हालांकि महात्मा गांधी के हस्तक्षेप के बाद दोनों की शादी इलाहाबाद में हुई। इनके दो बेटे हुई, जिनका नाम राजीव और संजय गाँधी था। शादी के बाद इंदिरा गाँधी और फिरोज गाँधी के बीच दरारे पैदा होनी लगी जिसके चलते 1949 में इंदिरा दोनों अपने बच्चे राजीव और संजय गांधी के साथ अपने पिता की देख रेख और घर सँभालने के लिए फिरोज गाँधी को छोड़कर चली गईं, जिसके बाद फिरोज गाँधी ने नेहरू की सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया।

फिरोज गांधी की मृत्यु | Feroze Gandhi’s death

फ़ीरोज़ गाँधी को 1960 में दिल का दौरा पड़ा था, इसलिए इंदिरा गाँधी उस समय महिला सम्मेलन में भाग लेने के लिए केरल गई थीं। लेकिन जब फ़ीरोज़ गाँधी के बारे में पता चला तो यह तुरंत दिल्ली आई लेकिन 8 सितम्बर, 1960 को फ़ीरोज़ गाँधी का दिल्ली में 47 वर्ष की उम्र में देहान्त हो गया। उनकी समाधी इलाहबाद में बनी हुई है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न | FAQ

फिरोज गांधी का जन्म कब हुआ?

12 सितम्बर 1912 (मुंबई में )

फिरोज गांधी के पिता का नाम क्या है?

जहांगीर।

इंदिरा जी के पति कौन थे?

फिरोज गांधी।

फिरोज गांधी की मौत कब हुई थी?

8 सितम्बर, 1960

फिरोज गांधी की मृत्यु कैसे हुई?

दिल का दौरा की वजह से।

see also – यह भी पढ़े

महात्मा गांधी की जीवनी, इतिहास, और आंदोलन

नोट– यह संपूर्ण बायोग्राफी का क्रेडिट हम फिरोज गांधी को देते हैं, क्योंकि ये पूरी जीवनी उन्हीं के जीवन पर आधारित है और उन्हीं के जीवन से ली गई है। उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। हमें कमेंट करके बताइयेगा कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा?

Leave a Reply