CM Yogi Biography in Hindi | योगी आदित्यनाथ जीवन परिचय

You are currently viewing CM Yogi Biography in Hindi | योगी आदित्यनाथ जीवन परिचय
CM of UP

Keywords – योगी आदित्यनाथ की जीवनी, जीवन परिचय, इतिहास, उम्र, असली नाम,परिवार, ( CM Yogi Biography in Hindi, History, Age, real name, Family, )

नमस्कार दोस्तों आज हम ऐसे शख्सियत के बारे में बात करने वाले हैं जिनकी चर्चा उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे भारतवर्ष में चलती ही रहती है,जी हां यह कोई और नहीं हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं. आज हम उन्हीं के बारे में इस आर्टिकल में बात करेंगे, इस आर्टिकल में आपको Yogi Adityanath की Biography in Hindi में पढ़ने को मिलेगी। हमने यहाँ योगी जी के जीवन से जुड़ी हर छोटी से बड़ी जानकारी को आपके सामने रखने की कोशिश की है, उम्मीद करेंगे आपको यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा।

योगी आदित्यनाथ कौन है (biography of CM yogi adtiyanath in hindi)

माननीय योगी आदित्यनाथ वर्तमान समय में भारत के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं जिनका असली नाम अजय सिंह बिष्ट है, और उनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पंचुर जिला में हुआ था तथा वर्तमान समय में यह भारत उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में रहते हैं योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी यानी बीजेपी राजनीतिक दल से संबंध रखते हैं

question ( सवाल )answer ( जवाब )
full name/पूरा नामअजय सिंह बिष्ट
nickname/उपनाम योगी
DOB/जन्म तिथि 5 जून 1972 ( उत्तराखंड, पंचुर जिला )
age/उम्र49 वर्ष ( 2021 )
profession/पेशाराजनीतिज्ञ, पुजारी
parents/माता-पिताआनंद सिंह बिष्ट/सावित्री देवी
religon/धर्महिन्दू (नाथ संप्रदाय)
caste/जातिठाकुर
hometown/गृहनगरगोरखपुर, उत्तर प्रदेश, भारत
school/स्कूलपुरी प्राइमरी स्कूल, उत्तराखंड
collage/विश्वविद्यालयपुरी प्राइमरी स्कूल, उत्तराखंड
politics party/राजनीतिक दलBJP
UP cM/यूपी सीएम 18 मार्च साल 2017
net-worth/कुल मूल्य.70 लाख ( 2021 )
nationality/राष्ट्रीयताभारतीय
CM Yogi Biography in Hindi

योगी आदित्य नाथ जीवन परिचय (Yogi Adityanath Biography in Hindi)

शुरुआती जीवन – योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड के गढ़वाल जिले में एक हिंदू राजपूत परिवार में जन्मे व्यक्ति हैं, जिनके पिता महंत आनंद सिंह बिष्ट जी एक गुरु गोरखनाथ मंदिर के महंत थे। योगी आदित्यनाथ अपने पिता की मृत्यु के बाद स्वयं उस मंदिर के महंत रहे, साथ ही बताया जाता है की योगी आदित्यनाथ जी के पिता आनंद सिंह बिष्ट जी एक फॉरेस्ट रेंजर थे, जहां से रिटायर होने के बाद गोरखनाथ मंदिर के महंत बने। वर्तमान समय में इनके भाई महेंद्र सिंह बिष्ट भारतीय आर्मी में है, और इनके दो भाई कॉलेज में काम करते हैं, इनकी एक बड़ी बहन भी है और योगी जी की दो छोटी बहन भी है।

योगी आदित्यनाथ परिवार ( Yogi Adityanath Family )

CM योगी आदित्यनाथ जी के पिता आनंद सिंह बिष्ट वर्तमान समय में इस दुनिया में नहीं है, उनकी मृत्यु कोरोना महामारी के समय 20 अप्रैल 2020 को दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में हुई थी। परिवार में उनकी माता सावित्री देवी एक ग्रहणी है, तथा उनके तीन भाई हैं, जिनमें से एक का नाम महेंद्र सिंह बिष्ट है और दो छोटे भाई कॉलेज में काम करते हैं। योगी आदित्यनाथ जी की 3 बहने भी हैं, जिनमें से एक का नाम शशि है, जो योगी जी से बड़ी है। इसके आलावा दो छोटी बहनें हैं, जिनका नाम हमारी जानकारी में नहीं है। महंत अवैद्यनाथ महाराज जी योगी आदित्यनाथ के धार्मिक गुरु हैं, जिन्हें वह अपने परिवार से बढ़कर मानते हैं और उनका सम्मान करते हैं।

योगी आदित्यनाथ राजनीतिक कैरियर

योगी आदित्यनाथ 26 वर्ष की उम्र में देश के 12 वीं लोकसभा चुनाव में गोरखपुर से चुनाव जीतकर सबसे कम उम्र वाले सांसद बने। 1998 और 1999 में सिविल सप्लाई मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स और कमेटी ऑफ फूड आदि में इन्होंने काम किया, और 1999 में ही तेरहवीं लोकसभा में यह फिर से निर्वाचित हुए और पुराने पदों पर बने रहे। साल 2004 में उन्होंने फिर से इसी सीट से चुनाव जीता और सभी पुराने पदों पर काम करते रहे। साल 2009 में 15 लोकसभा में योगी आदित्यनाथ जी को फिर से अपना प्रतिनिधि चुना और जिसके बाद वह परिवहन और पर्यटन संस्कृति कमेटी के मेंबर हुए, इसके बाद साल 2014 में भारत के 16 लोकसभा में योगी आदित्यनाथ जी फिर सेल चुनाव जीतकर लोकसभा के सांसद बने।

बीजेपी के खिलाफ बगावत –

बीजेपी के साथ काफी लंबे समय तक योगी आदित्यनाथ जी के संबंध काफी खराब रहे, क्यों की वह हमेशा हिंदुत्व विचारधारा को कमजोर पड़ने की आलोचना करते हुए बीजेपी का मजाक उड़ाया करते थे। हिंदू युवा वाहिनी और गुरु गोरखनाथ मठ के समर्थन से उत्तर प्रदेश में अपना आधार स्थापित किया, जिसके बाद उन्होंने भाजपा यानी बीजेपी के साथ अपनी शर्तें सामने रखने के लिए अपने आप को काबिल समझा लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई, जिसके बाद उन्होंने बीजेपी के खिलाफ बगावत शुरू कर दी, जिसका एक उदाहरण राधा मोहन दास अग्रवाल की फीलिंग थी। राधा मोहन दास अग्रवाल ने उस टाइम बीजेपी कैबिनेट मंत्री शिव प्रताप शुक्ला को हराया था।

साल 2007 में योगी आदित्यनाथ ने बीजेपी उम्मीदवारों के खिलाफ राज्य विधानसभा के लिए 60 से ज्यादा उम्मीदवारों को मैदान में उतारने की धमकी दी थी, लेकिन बताया जाता है की अंत में वह समझौता करने पहुंच गए, योगी आदित्यनाथ के काफी ज्यादा विद्रोह के बाद भी उन्हें आरएसएस और बीजेपी नेताओं द्वारा अच्छे हादसे में रखा। बाद में प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और आरएसएस के प्रमुख राजेंद्र सिंह और बीपी प्रमुख अशोक सिंघल गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ से मिलने गए जिसके बाद दिसंबर 2006 में योगी आदित्यनाथ ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्य की बैठक के साथ ही गोरखपुर में तीन दिवसीय विराट हिंदू महासम्मेलन का आयोजन किया।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी जी ( UP CM Yogi Adityanath in hindi )

साल 2010 में योगी आदित्यनाथ बीजेपी के कई सांसदों में से एक हो चुके थे जिन्होंने संसद में महिला आरक्षण विधेयक पर पार्टी विहिप को चुनौती दी थी, साल 2017 में योगी आदित्यनाथ जी भाजपा के प्रमुख प्रचारक थे। इसके बाद साल 2017 में ही योगी आदित्यनाथ ने एक प्रखंड बहुमत के साथ चुनाव जीता। 18 मार्च साल 2017 यह वह दिन था, जब राज्य सरकार ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री नियुक्त किया जिसके बाद योगी जी ने 19 मार्च को मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ ग्रहण की। योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़े-बड़े नेता प्रधानमंत्री के साथ एक ही मंच पर दिखे थे।

योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद काफी बड़े फैसले लेने शुरू कर दिए. कुछ ऐसे फैसले जो योगी आदित्यनाथ को बाकी मुख्यमंत्री से अलग बनाता है। इन फैसलों के लिए योगी आदित्यनाथ को बेस्ट सीएम ऑफ इंडिया कहा जाता है।

मुख्यमंत्री बनने के बाद गुंडाराज को किया खत्म

वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश के अंदर गुंडाराज या गुंडागर्दी जो कि किसी टाइम पर लोगो के लिए सबसे बड़ी परेशानी हुआ करती थी, लोग अकेले सड़कों पर रात में निकलना सुरक्षित नहीं समझते थे, वही दिन में भी लड़कियां मां बहने उत्तर प्रदेश के अंदर अपने आप को सुरक्षित नहीं महसूस करती थी, लेकिन योगी आदित्यनाथ जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद आज उत्तर प्रदेश की जनता हक से कहती है, और कह सकती है कि आज उत्तर प्रदेश में गुंडाराज मानो खत्म सा हो गया है। आज हर एक व्यक्ति उत्तर प्रदेश में दिन हो या रात आदमी हो या औरत अपने आप को अकेले में भी सुरक्षित महसूस करता है।

जानिए कैसे बना एक चाय वाला देश का प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी सम्पूर्ण जानकारी।

हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक – योगी आदित्यनाथ

साल 2002 में गोरखपुर के सांसद और उत्तर प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जब इसका गठन किया था तो इसे उन्होंने एक सांस्कृतिक संगठन बताया था. उस समय इस संगठन का काम था, गांवों और शहरों में जाकर कथित तौर पर राष्ट्र विरोधी और हिंदू विरोधी गतिविधियों को रोकना। लेकिन इस संगठन पर 2005 में मऊ में हुए दंगे का आरोप भी लगा था. क्योकि यह संगठन कई विवादों से घिरा हुआ था। यह दंगा भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक कृष्णानंदा राय की हत्या के आरोपी मुख़्तार अंसारी को लेकर हुआ था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कुछ सरकारी योजना

1 . कन्यासुमंगला योजना

योगी जी द्वारा इस योजना में अनेक लाभ है, इस योजना यानि कन्या सुमंगला योजना के तहत लड़कियों को अच्छे भविष्य के लिए सहायता दी जाएगी। इस योजना का मकसद जन्म लेने वाली बेटी का भविष्य तथा पढाई पर भी ध्यान दिया जायेगा।

2. यूपी पेंशन योजना

भारत में कई योजनाएं उपलब्ध है, जिसमे से एक महत्वपूर्ण पेंशन योजना है, योगी जी नेतृत्व में शुरू की गयी यह योजना लोगो के लिए काफी लाभदायक है, इसमें शामिल वृद्धजनों, विधवा महिलाय और तथा पीड़ित लोगो के लिए यह योजना लागु की गई। है। इस योजना का आवेदन करने के लिए official वेबसाइट पर कर सकते है।

3. यूपी श्रमिक पंजीकरण योजना

यूपी श्रमिक पंजीकरण योजना का मकसद मजदूरों की सहयता प्रदान कर सीधा मजदूरों के खाते में रुपए भेजना है। इसके लिए मजदुर भाइओ को सबसे पहले पंजीकरण तथा बाद में श्रमिक कार्ड बनवाना होगा।

CM Yogi Biography in Hindi | योगी आदित्यनाथ

योगी जी और रोचक तथ्य ( Yogi ji and interesting facts )

  • योगी जी बाकि नेताओं की तरह केवल सन्यासी की वेशभूषा नहीं रहते बल्कि वह एक सचमुच योगी की भेष में सन्यास के सभी धर्म का पालन करते है।
  • जानकारी के अनुसार योगी आदित्यनाथ के पास 72 लाख की सम्पत्ति है।
  • नेताओं में बात करें तो बराक ओबामा के कम सोने 5 से 6 घंटे का रिकॉर्ड है, जबकि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम यह रिकॉर्ड 4 से 5 घंटे सोने का रिकार्ड् है, लेकिन यही रिकॉर्ड यूपी मुख्यमंत्री योगी जी के नाम 3 से 4 घंटे का है।
  • योगी जी ने मात्र 22 वर्ष की आयु में सांसारिक जीवन त्याग कर सन्यास ले लिया था।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सांसारिक नाम अजय सिंह बिष्ट है।

सामान्य प्रश्न ( FAQ )

योगी आदित्यनाथ का पूरा नाम क्या है ?

अजय सिंह लेकिन बाद में महंत योगी आदित्यनाथ हो गया।

योगी जी यूपी के मुख्यमंत्री कब बने ?

18 मार्च साल 2017 को

योगी आदित्यनाथ के पिता का क्या नाम है ?

आनंद सिंह बिश्त

योगी आदित्यनाथ की शिक्षा कितनी है ?

गणित में स्नातक (BSC)

योगी आदित्यनाथ के कितने भाई है ?

तीन ( दो छोटे और एक बड़े )

योगी आदित्यनाथ की पत्नी का नाम क्या है ?

अभी तक विवाहित है।

see also – इन्हे भी पढ़े

नोट – हम इस पूरी बायोग्राफी का श्रेय योगी आदित्यनाथ को देते हैं। क्योकि यह पूरी जीवनी योगी आदित्यनाथ के जीवन पर आधारित है, हमने बस उनके जीवन पर प्रकाश डालने का एक छोटा सा प्रयास किया है। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइयेगा और उम्मीद करते है आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे.

Leave a Reply