Bankim Chandra Chatterjee Biography Hindi | वन्दे मातरम की रचना करने वाले

You are currently viewing Bankim Chandra Chatterjee Biography Hindi | वन्दे मातरम की रचना करने वाले
Bankim Chandra Chatterjee

Bankim Chandra Chatterjee Biography Hindi – आज हम बात करने वाले हैं, भारत के प्रसिद्ध कवि जिन्होंने भारत के लिए राष्ट्रगीत वंदे मातरम की रचना की, जी हां दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं, महान शख्सियत बंकिम चंद्र चटर्जी के बारे में। इसलिए इस लेख में आपको बंकिम चंद्र चटर्जी की जीवनी, उम्र, कार्य तथा उनसे जुड़ी सभी जानकारी आपको देने का प्रयास करेंगे। कृपया इस लेख से आप अंत तक जुड़े रहिए।

who is bankim Chandra Chatterjee | कौन हैं बंकिम चंद्र चटर्जी?

बंकिम चंद्र चटर्जी जिन्हें बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय के नाम से भी जाना जाता है, यह एक भारतीय उपन्यासकार कवि और प्रसिद्ध पत्रकार थे। इनका जन्म 27 जून 1838 को पश्चिम बंगाल में हुआ था। यह भारतीय राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम लिखने के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई मेदिनीपुर में पूरी की और बाद में हुगली के मोहसिन कॉलेज में दाखिला लिया। बंकिम चंद्र चटर्जी एक बहुत ही होनहार छात्र थे, और उन्हें संस्कृत साहित्य में काफी दिलचस्पी थी। इसके बाद उन्होंने साल 1856 में कोलकाता के प्रेसिडेंसी कॉलेज में दाखिला लिया। उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद सरकारी सेवा में शामिल हुए हैं, और साल 1891 मे सेनानिवृत्त हुए।

Bankim Chandra Chatterjee biography hindi

नामबंकिम चंद्र चटर्जी
अन्य नामोंबंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय
जन्म की तारीख 27 जून 1838
जन्म स्थान पश्चिम बंगाल
परिवारपिता – यादव चंद्र चट्टोपाध्याय
माता – दुर्गादेबी चट्टोपाध्याय
भाई – संजीव चंद्र चट्टोपाध्याय
पत्नीमोहिनी देवी
प्रसिद्धवन्दे मातरम की रचना के लिए
उपन्यासकपालकुंडला, आनंदमठ तथा और भी
धर्महिंदू
निधन8 अप्रैल 1894
उम्र (निधन के समय )55 वर्ष
राष्ट्रीयताभारतीय
bankim Chandra Chatterjee biography in hindi

bankim Chandra Chatterjee history in hindi | बंकिम चंद्र चटर्जी का इतिहास हिंदी में

अगर बात करें बंकिम चंद्र चटर्जी जी के परिवार की, तो परिवार में इनके पिता का नाम यादव चंद्र चट्टोपाध्याय तथा मां का नाम दुर्गा देवी है। वह अपने परिवार में सबसे छोटे थे, जिनके बड़े भाई का नाम संजीव चंद्र चट्टोपाध्याय था, यह भी बंकिम चंद्र चटर्जी की तरह एक लेखक थे। बंकिम चंद्र चटर्जी कवि और उपन्यास दोनों में माहिर थे, उनकी प्रथम प्रकाशित रचना राजमोहन्स वाइफ थी, जिसे अंग्रेजी में रची गई थी। तथा बंकिम चंद्र चटर्जी का पहला बंगाली उपन्यास दुर्गेशनंदिनी थी, जिसे वर्ष 1865 में प्रकाशित किया गया।

जानिए झाँसी की रानी कहे जाने वाली रानी लक्ष्मीबाई का जीवन परिचय

इनके अलावा बंकिम चंद्र चटर्जी ने 1866 में कपालकुंडला, 1869 में मृणालिनी, 1873 में विषवृक्ष, 1877 में चंद्रशेखर, 1877 में रजनी, 1881 में राज सिंह, 1884 में देवी चौधुरानी, और साल 1872 में वंगदर्शन जैसी कुछ प्रसिद्ध रचनाएं प्रकाशित की।

इन सबके बीच बंकिम चंद्र चटर्जी की एक प्रसिद्ध रचना आनंदमठ भी है। आनंदमठ एक ऐसी रचना है, जो भारतीय राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम में लिया गया है। बता देगी आनंदमठ एक राजनीतिक उपन्यास है, जिसमें बंकिम चंद्र चटर्जी ने ईस्ट इंडिया कंपनी के वेतन के लिए संघर्ष करने वाले भारतीय मुसलमान और सन्यासी ब्राह्मण सेना का जिक्र किया है।

भारत के लिए राष्ट्रीय गीत लिखने वाले बंकिम चंद्र चटर्जी ने अपना पूरा जीवन काल भारत देश के लिए समर्पित कर दिया। दुर्भाग्य से उनका निधन 55 वर्ष की आयु में 8 अप्रैल 1894 में पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हो गया, जिसके चलते बंकिम चंद्र चटर्जी के देहांत के बाद पूरा भारत शोक में डूब गया। भारत देश के लिए अहम योगदान देने के लिए बंकिम चंद्र चटर्जी जी हमेशा याद किया जाएगा।

FAQ

आनंद मठ की रचना कब हुई?

1882 में।

बंकिम चंद्र चटर्जी की मृत्यु कब हुई थी?

8 अप्रैल 1894 को।

बंकिम चंद्र द्वारा रचित उपन्यास का नाम क्या है?

1866 में कपालकुंडला, 1869 में मृणालिनी, 1873 में विषवृक्ष, 1877 में चंद्रशेखर, 1877 में रजनी, 1881 में राज सिंह, 1884 में देवी चौधुरानी, और साल 1872 में वंगदर्शन।

बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का जन्म कौन से राज्य मे हुआ था?

पश्चिम बंगाल।

see also – इन्हे भी पढ़े

महात्मा गांधी का जीवन परिचय

फातिमा शेख का जीवन परिचय

नोट– यह संपूर्ण बायोग्राफी का क्रेडिट हम बंकिम चंद्र चटर्जी को देते हैं, क्योंकि ये पूरी जीवनी उन्हीं के जीवन पर आधारित है और उन्हीं के जीवन से ली गई है। उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। हमें कमेंट करके बताइयेगा कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा?

Leave a Reply